फर्जी हैं उत्तर प्रदेश की ये 9 यूनिवर्सिटी.


विश्वविद्यालय अनुदान आयोगविश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने देशभर में अवैध रूप से संचालित 21 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची अपनी वेबसाइट पर सार्वजनिक कर दी है. समय-समय पर छात्र हित को ध्यान में रखकर यूजीसी देश में अवैध रूप से संचालित हो रहे विश्वविद्यालयों के नाम सार्वजनिक करती है.इस सूची में उन संस्थानों/ यूनिवर्सिटी के नाम को अवैध करार दिया जाता है तो यूजीसी एक्ट 1956 के खिलाफ बिना अनुमति के संचालित होते हैं. इन संस्थानों से ली गई डिग्री अथवा डिप्लोमा को यूजीसी से मान्यता प्राप्त नहीं होती है. इसके चलते ही यहां से पढ़ने वाले स्टूडेंट्स की डिग्री को सरकारी और प्राइवेट नौकरी में फर्जी करार दिया जाता है.
वेबसाइट पर डाली गई सूची में यूजीसी ने साफ लिखा है कि इन सभी संस्थानों/ यूनिवर्सिटी को डिग्री देने का कोई अधिकार नहीं है. यूपी के नौ यूनिवर्सिटीज के अलावा बिहार की एक, दिल्ली की पांच, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल की एक -एक यूनिवर्सिटी शामिल है.
ये हैं यूपी के फर्जी यूनिवर्सिटीज के नाम:
1. वाराणसेय संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणासी
2. महिला ग्राम विद्यापीठ यूनिवर्सिटी (वीमेंस यूनिवर्सिटी) प्रयाग, इलाहाबाद
3. गांधी हिंदी विद्यापीठ, प्रयाग, इलाहाबाद
4. नेताजी सुभाष चंद्र बोस यूनिवर्सिटी (ओपन यूनिवर्सिटी) अलीगढ़
5. उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी कोशी कला मथुरा
6. महाराणा प्रताप शिक्षा निकेतन यूनिवर्सिटी, प्रतापगढ़
7. इंद्रप्रस्थ शिक्षा परिषद इंस्स्टीट्यूशंस एरिया, खोड़ा माकनपुर, नोएडा
8. गुरुकुल विश्वविद्यालय, वृंदावन
9. नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ इलेक्ट्रो कॉम्प्लेक्स होम्योपैथी, कानपुर
Source: Aaj Tak

No comments: