Wednesday, October 29, 2014

पुराने नोट वापस लिए जाने की मियाद 1 जनवरी 2015

Symbolic Image
Symbolic Image
साल 2005 से पहले छपे बैंक नोटों को वापस लेने की मियाद एक जनवरी 2015 तय की गई है. सरकार ने कहा है कि जनवरी 2014 में आरबीआई ने साल 2005 से पहले छपे सभी करेंसी नोटों को 31 मार्च 2014 तक वापस लेने का फैसला किया था, जिसे बढ़ाकर एक जनवरी 2015 कर दिया गया है.जनवरी से जून 2014 तक आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों में साल 2005 से पहले की सीरीज के 100, 500 और 1000 रुपये मूल्य वर्ग के 47 करोड़ 27 लाख 90 हजार 84 नोट नष्ट किए गए, जिनकी कुल राशि एक खरब 46 अरब 88 करोड़ 62 लाख 61 हजार 600 रुपये है. इस अवधि के दौरान 100 रुपये के 30 करोड़ 20 लाख 60 हजार 606 नोट नष्ट किए गए, जिसकी कुल राशि 30 अरब 10 करोड़ 60 लाख 60 हजार 600 रुपये है. इसी तरह 500 रुपए के 10 करोड़ 98 लाख 98 हजार 954 नोट खत्म किए गए, जिनकी कुल राशि 54 अरब 94 करोड़ 94 लाख 77 हजार रुपये है.
जनवरी से जुलाई 2014 तक 1000 रुपये के छह करोड़ 18 लाख 30 हजार 724 नोट नष्ट किए गए, जिनकी कुल राशि 61 अरब 83 करोड़ सात लाख 24 हजार रुपये है. आरबीआई 2005 से पहले छपे नोटों को बैंकों के जरिये वापस लेने का काम पहले से ही कर रहा है.

No comments: