Home » , , » Rahul backs one rank, one pension for ex-servicemen

Rahul backs one rank, one pension for ex-servicemen

Written By GOVIND PATEL on Saturday, February 15, 2014 | 2/15/2014 01:52:00 PM

Rahul backs one rank, one pension for ex-servicemen: Deccan Herald
Congress vice-president Rahul Gandhi on Friday lent his support to the long-standing demand of ex-servicemen for “one rank, one pension” (OROP).
I am on your side. I understand your concerns. You give your life for the country, I will do all that I can to see that your demands are met,” Gandhi told various state delegations of ex-servicemen who met him.
The delegations from Haryana, Rajasthan, Himachal Pradesh and Punjab met the Congress vice-president on Friday and pressed for implementation of OROP.
There are over two million defence pensioners who receive differential retirement benefits. All pre-2006 pensioners receive lesser pension than those who retired in the same rank later and even than those of junior rank.
A colonel who retired in 2003 gets Rs 26,150 as pension compared to Rs 34,000 drawn by a colonel who retired this year. BJP prime ministerial candidate Narendra Modi had also reached out to them when he addressed a huge rally of ex-servicemen in Rewari last year with former Army Chief V K Singh joining him on the dais.


Gandhi assured the ex-servicemen that he would make all efforts to ensure that this long-standing demand is met at the earliest. [Source]
Rahul backs 'One-Rank-One-Pension' demand of ex-servicemen: IBN Live
New Delhi: Rahul Gandhi on Friday backed the long-pending demand of "One-Rank, One-Pension" for ex-servicemen assuring them that he will make all efforts to ensure it is met at the earliest.
"I am on your side. I understand your concerns. You give your life for the country, I will do all that I can to see that your demands are met," Gandhi told a gathering of 1000 odd ex-servicemen during an interaction.
Gandhi is holding interactions with various sections to get their direct feedback for Congress manifesto for 2014 Lok Sabha elections. Delegations of ex-servicemen from Haryana, Rajasthan, Himachal Pradesh and Punjab met Gandhi on Friday and requested him to push for the implementation of the "One Rank, One Pension" [source]

राहुल ने पूर्व सैनिकों को दिया एक रैंक-एक पेंशन का भरोसा: Jagran
नई दिल्ली। पूर्व सैनिकों की लंबे समय से चली आ रही 'एक रैंक-एक पेंशन' मांग का कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने समर्थन किया है। उन्होंने पूर्व सैनिकों को वादा किया कि वह जल्द से जल्द उनकी मांगों को पूरा करने का प्रयास करेंगे।
यहां करीब एक हजार पूर्व सैनिकों से मुलाकात में राहुल गांधी ने कहा, 'मैं आपके साथ हूं। आपने देश के लिए अपना पूरा जीवन दिया। आपकी मांगों को पूरा करने के लिए भरसक प्रयास करूंगा।' बता दें कि राहुल गांधी आगामी आम चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस के चुनावी घोषणापत्र पर राय लेने के लिए विभिन्न तबकों से मिल रहे हैं। इसी कड़ी में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के पूर्व सैनिकों के प्रतिनिधिमंडल से शुक्रवार को राहुल की मुलाकात हुई। पूर्व सैनिकों के संगठन के चेयरमैन मेजर वेद प्रकाश ने बताया कि मुलाकात में उनकी तरफ से सशस्त्र बलों में कार्यरत सैनिकों का भी मामला उठाया गया। राहुल से गुजारिश की गई कि ये सैनिक पारिवारिक जिम्मेदारियों का निर्वहण करने से पहले ही सेवानिवृत्त हो जाते हैं। ऐसे में उन्हें अर्धसैनिक बलों या सरकारी नौकरियों में समायोजित किया जाए। [Source]

राहुल ने ‘एक रैंक-एक पेंशन’ मांग का समर्थन किया : Zee News
नई दिल्ली : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को पूर्व सैनिकों के लिए लंबे समय से चली आ रही ‘एक रैंक-एक पेंशन’ की मांग का समर्थन किया और उन्हें आश्वासन दिया कि यह जल्दी से जल्दी पूरा हो इसके लिए वह पूरा प्रयास करेंगे।
राहुल गांधी ने यहां करीब एक हजार पूर्व सैनिकों की एक बैठक में उनसे बातचीत के दौरान कहा, ‘मैं आपके पक्ष में हूं। मैं आपकी चिंताओं को समझता हूं। देश के लिए आपने अपना जीवन दिया है। आपकी मांगे पूरी हों, इसके लिए मैं वह सब करूंगा जो मैं कर सकता हूं।’
हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और पंजाब के पूर्व सैंनिकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने यहां राहुल गांधी से मुलाकात कर उनसे ‘एक रैंक-एक पेंशन’ की नीति को लागू करने की मांग को आगे बढाने का अनुरोध किया।
भारत के करीब 20 लाख पूर्व सैनिकों की ‘एक रैंक-एक पेंशन’ की मांग लंबे समय से चली आ रही है। पूर्व सैनिकों का कहना है कि बाद में एक ही रैंक पर रिटायर होने वाले जूनियर लोगों को ज्यादा पेंशन मिलना अन्यायपूर्ण है। उन्होंने राहुल गांधी से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि यह विसंगति दूर हो।
गांधी ने पूर्व सैनिकों से कहा कि वह यह महसूस करते हैं कि उनकी मांग काफी पुरानी है और वह यह सुनिश्चित करने का पूरा प्रयास करेंगे कि लंबे समय से चली आ रही उनकी मांग जल्द से जल्द पूरी हो। कांग्रेस के पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मेजर वेद प्रकाश ने प्रेस ट्रस्ट से कहा कि पूर्व सैनिकों ने इस बैठक के दौरान इस बात का भी उल्लेख किया कि सेना में काम करने वाले जो लोग जल्द रिटायर हो जाते हैं और यहां तक कि उनकी पारिवारिक जिम्मेदारियां भी पूरी नहीं हुई होती हैं वैसे लोगों को अर्धसैनिक बलों और अन्य सरकारी नौकरियों में जगह मिलनी चाहिए। (एजेंसी) [Source]
Share this article :
 
Copyright © 2015. CENTRAL GOVERNMENT EMPLOYEES NEWS - All Rights Reserved
Proudly powered by Blogger